Wednesday, January 6, 2016

aye malik tere bande ham.. film do aankhen barah hath

देश इन दिनों जिस कठिन दौर से गुज़र रहा है उस परिस्थिति में मन के रिसते ज़ख्मों पर मरहम लगाने के लिये इससे बेहतर अन्य कोई गीत और कौन सा हो सकता है ! शायद किसी पल में इस गीत के अनमोल बोल किसीका हृदय परिवर्तित करने में सहायक हो सकें ! गीत है फिल्म 'दो आँखें बारह हाथ' का, स्वर दिया है लता मंगेशकर ने और संगीतकार हैं वसंत देसाई !

साधना वैद